Shrimad Bhagwat Geeta Quotes in Hindi - भागवत गीता के विचार

Shrimad Bhagwat Geeta Quotes in Hindi - भागवत गीता एक प्रसिद्ध ग्रंथ है, जिसमें भगवान श्री कृष्ण के द्वारा बताए गए उपदेशों के बारे में बताया गया है। भागवत गीता में कुल 18 अध्याय है जिनमे 700 श्लोक है। 

जब अर्जुन महाभारत के युद्ध के दौरान युद्ध करने से मना कर रहे थे, तब श्री कृष्ण ने अर्जुन को धर्म और कर्म के सच्चे ज्ञान से अवगत कराया था। तो चलिए पढ़ते है आज की इस पोस्ट में Shrimad Bhagwat Geeta Quotes in Hindi के बारे में। 

Shrimad Bhagwat Geeta Quotes in Hindi

यहां बताए गए भागवत गीता के उपदेश इन हिंदी, गीता के अनमोल वचन इन हिंदी, भगवत गीता इन हिंदी, गीता श्लोक, गीता सार इन हिंदी, भागवत गीता शायरी आपको जरूर प्रेरित करते है। 

Bhagwat Geeta Quotes in Hindi


1.जो आपके साथ हुआ था वो अच्छा हुआ था, जो आपके साथ हो रहा है वो भी अच्छा हो रहा है और जो आपके साथ होगा वो भी अच्छा ही होगा।

2.जन्म लेने वाले व्यक्ति के लिए उसकी मृत्यु उतनी ही निश्चित है, जितनी मरने वाले व्यक्ति के लिए जन्म लेना, इसलिए जो अनिवार्य है, उस पर ज्यादा शोक नही करना चाहिए।

3.फल की इच्छा छोड़कर कर्म करने वाला व्यक्ति ही अपने जीवन में सफल होता है।

4.तुम लोगों को मेरा तेरा, अपना पराया, छोटा बड़ा करने की जरूरत नही है, इन सब को अपने मन से मिटा दो, क्योंकि सब कुछ तुम्हारा है और तुम सबके हो।

5.जो इंसान अपने मन की सभी इच्छाओं को त्याग देता है और में तथा मेरा करने की लालसा और भावना से मुक्त हो जाता है, उस इंसान को अपार शांति की प्राप्ति होती है।

Bhagwat Geeta Karma Quotes in Hindi


6.जिस प्रकार इस धरती पर मौसम में परिवर्तन होता रहता है, ठीक उसी प्रकार इंसानों के जीवन में भी सुख दुःख आता जाता रहता है। 

7.जो होने वाला होता है, वो होकर ही रहेगा और जो नही होने वाला होगा वो कभी नही होगा, ऐसा निश्चय जिसके मन में होता है, ऐसे इंसान को चिंता कभी नही सताती है।

8.किसी भी प्राणी को वक्त से पहले और भाग्य से अधिक कुछ नही मिलता है।

9.जब इस धरती पर पाप, अधर्म और अंहकार बढ़ेगा, तब उसका नाश कर फिर से धर्म की स्थापना करने के लिए में अवश्य अवतार लेता रहूंगा। 

10.जो इंसान अपनी मृत्यु के वक्त मुझे याद करते हुए अपना शरीर त्यागता है, वह मेरे धाम को प्राप्त होता है और इस बात में कोई शंशय नही है।

Bhagavad Gita Motivational Quotes in Hindi


11.बदलाव ही इस संसार का नियम है, हम लोग एक पल में लाखों के मालिक हो जाते है और दूसरे ही पल हमे लगता है की हमारे पास कुछ भी नही है।

12.जो आज तुम्हारा है वह कल किसी ओर का था और परसो किसी ओर का हो जाएगा, क्योंकि परिवर्तन ही इस दुनिया का नियम है।

13.तुम क्यों बेकार ही चिंता करते हो, तुम क्यों बेकार ही डरते हो, कौन तुम्हें मार सकता है ? क्योंकि आत्मा न तो जन्म लेती है और न ही इसे कोई मार सकता है, ये ही जीवन का अंतिम सत्य है।

14.यह शरीर तुम्हारा नही है और ना ही तुम इस शरीर के मालिक हो, तुम्हारा यह शरीर तो पांच तत्वों से मिलकर बना होता है - वायु, जल, आकाश, पृथ्वी और अग्नि, और एक दिन यह शरीर इन्हीं पांच तत्वों में मिल जाएगा।

15.तुम्हें अपना काम करते रहना चाहिए, लोग क्या कहते है, इस पर आप ध्यान नही देना चाहिए, क्योंकि अच्छे कर्म करने के बावजूद भी लोग केवल आपकी बुराइयां ही याद रखते है।

Life Bhagavad Gita Quotes in Hindi


16.हे अर्जुन ! हम दोनों ने बहुत सारे जन्म लिए है, मुझे याद है लेकिन तुमको यह याद नही है।

17.तुम्हारा जीवन न तो भविष्य में है और न ही अतीत में है, तुम्हारा जीवन तो बस इस पल में है।

18.किसी इंसान का पतन उस समय शुरू हो जाता है, जब वह अपनो को गिराने की सलाह गैरों से लेना शुरू कर देता है।

19.इंसान अपने विश्वास से बना होता है, वह जिस तरह का विश्वास करता है, वह वैसा ही बन जाता है।

20.प्रार्थना करने से परिस्थिति बदले या न बदले, लेकिन इंसान का चरित्र अवश्य ही बदल जाता है।

Bhagavad Gita Quotes in Hindi with Images Download


21.जो इंसान हमेशा संदेह करता है, उस इंसान के लिए खुशी न तो इस लोक में है और न ही कहीं ओर।

इन्हें भी पढ़ें,


22.काम, क्रोध और लोभ, ये तीनों इंसानों को नरक की ओर ले जाने वाले द्वार है, इसलिए इन तीनों का त्याग कर देना चाहिए।

23.जिसे तुम लोग देखकर खुश हो रहे हो, बस ये ही खुशी तुम्हारे दुखों का कारण है।

24.अच्छे कर्म करते रहो, बेकार की बातों में अपना वक्त बर्बाद मत करों और न ही किसी से बेवजह डरो।

25.जब आपको अपने घर के लोग अप्रिय लगने लगे और पराए लोग अपने लगने लगे तब समझ लीजिए आपका विनाश का समय शुरू हो चुका है।

Bhagavad Gita Love Quotes in Hindi


26.जो इंसान जिस देवता की पूजा करने में विश्वास रखता है, में उसका विश्वास उसी देवता में दृढ़ कर देता हूं।

27.हमारा मन अशांत होता है और इसे नियंत्रित करना कठिन है, लेकिन अभ्यास करके इसे नियंत्रित किया जा सकता है।

28.एक इंसान जो चाहे वो बन सकता है, अगर वह यकीन के साथ इच्छित वस्तु पर लगातार चिंतन करे।

29.गुस्से से भ्रम पैदा होता है, भ्रम से बुद्धि व्यग्र होती है, जब बुद्धि व्यग्र होती है तो तर्क नष्ट हो जाता है, जब तर्क नष्ट होता है तो इंसान का पतन हो जाता है।

30.जब कोई व्यक्ति किसी कर्म को फल के लिए करता है, तब न तो उसे वह फल मिलता है और न ही वो कर्म है।

Bhagwat Geeta Ke Updesh


31.जिस प्रकार मनुष्य पुराने कपड़ों को त्यागकर नए कपड़े पहनता है, उसी प्रकार आत्मा भी पुराने शरीर को त्यागकर नए शरीर को धारण करती है।

32.यदि जीव ने अपनी चेतना पशु जैसी बना रखी है, तो उसे पशु का शरीर प्राप्त होना निश्चित है।

33.जिस तरह से सूर्य अकेले ही इस सारे ब्रह्मांड को प्रकाशित करता है, उसी प्रकार शरीर के अंदर आत्मा सारे शरीर को चेतना से प्रकाशित करती है।

34.हे अर्जुन ! इस मनुष्य रूपी जीवन में इंसान का ना तो कुछ खोता है और न ही कुछ उसका व्यर्थ होता है।

35.में सभी जीवों को एकसमान रूप से देखता हूं, मेरे लिए न तो कोई कम प्रिय है और न ही ज्यादा प्रिय, लेकिन जो इंसान मेरी प्रेमपूर्वक आराधना करते है, वो मेरे अंदर रहते है और में उनके जीवन में आता हूं।

निष्कर्ष, 


इस पोस्ट में हमने आपको Shrimad Bhagwat Geeta Quotes in Hindi के बारे में बताया है। आपको यह Bhagwat Geeta Anmol Vachan, Bhagwat Geeta Ke Vichar कैसे लगे, हमें कमेंट करके जरूर बताए।

धन्यवाद 🙏 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ